Mahabharata Ek Khoj

This is an episode guide to Mahabharata Ek Khoj Show

10 18 कैरेट सोने से बनी थी लक्ष्मण रेखा

Listen Subscribe/Follow Home >>> Episode Guide क्या आपको पता है कि लक्ष्मण रेखा 18 कैरेट सोने से बनी थी? क्या महत्व है 18 कैरेट सोने का? क्या उचित है कि एक शुद्ध 24 कैरेट सोने को अशुद्ध कर 18 कैरेट का कर दिया जाए। आइए चर्चा करते हैं क्यों 18 कैरेट सोने से बनी थी …

10 18 कैरेट सोने से बनी थी लक्ष्मण रेखा Read More »

09- स्मृति से इतिहास तक

Listen Subscribe/Follow Home >>> Episode Guide पिछले भाग में हमने चर्चा की श्रुति-स्मृति परंपरा की। आज की चर्चा श्रुति-स्मृति परामपरा से इतिहास की ओर प्रयाण की और इस मार्ग के मील के पथरों की। वेद व्यास की शृंखला में आए उन विद्वानों की जिन्हों ने इसे लिखित रूप दिया और ऐतिहासिक दस्तावेज में बदलने का …

09- स्मृति से इतिहास तक Read More »

08-श्रुति स्मृति परंपरा — World’s first neural network

Listen Subscribe/Follow Home >>> Episode Guide दस हजार वर्ष। अनेकों धर्म, अनेकों सभ्यताओंं, अनेकों संसकृत्यों का उदय और विलय हुआ। पर भारतीय सनातन संस्कृति आज भी खड़ी है। आक्रान्ताओं के अनेकों हमलों के बाद, इस संस्कृति को मिटाने के अनेकों षड्यंत्रों के बाद भी। ऐसा क्या है जो हमारा सहस्रों वर्षों का ज्ञान इस सभी …

08-श्रुति स्मृति परंपरा — World’s first neural network Read More »

07 दिव्यास्त्र, कितने दिव्य, कितने अस्त्र?

Listen Subscribe/Follow Home >>> Episode Guide क्या आपने ब्रह्मास्त्र सिनेमा को देखा है? क्या आपको पता है कि दिव्यास्त्र का मूल तत्व वो पकड़ ही न सके? यही नहीं आज के ज्यादातर कथाकार, उपनन्यासकार या टीवी धारावाहिक दिव्यास्त्र का गलत चित्रण ही करते आए हैं। उनकी माने तो दिव्यास्त्र या तो कोई जादुई तीर थे …

07 दिव्यास्त्र, कितने दिव्य, कितने अस्त्र? Read More »

06 चलो दिया जलाएं (दीपावली विशेष)

Listen Subscribe/Follow Home >>> Episode Guide आज का दीपावली विशेष अध्याय एक कविता के माध्यम से तलाश करता है भारतीय संस्कृति को, श्री राम के मर्यादा को। ये अध्याय महाभारत से संबंध भले न हो, हमारी सनातन संस्कृति को । Todays poetry is dedicated to ancient Indian celeberation of Deepawali and traces the root to …

06 चलो दिया जलाएं (दीपावली विशेष) Read More »

05 बर्बरीक कथा का चौथा बाण (Barbarik’s fourth arrow)

Listen Subscribe/Follow Home >>> Episode Guide This is the concluding part of Barbarik’s story where we explore the evidences and reason’s as to why Barbarik’s story is not only NOT authentic but doesn’t match the core essence of the epic. आज बर्बरीक के दूसरे और अंतिम अध्याय में हम समझने का प्रयत्न करेंगे कि क्यों …

05 बर्बरीक कथा का चौथा बाण (Barbarik’s fourth arrow) Read More »

04 वो तीन तीर जिनसे सिमट सकता था महाभारत का महायुद्ध

Listen Subscribe/Follow Home >>> Episode Guide Do you know the story of a legendary warrior and his three divine arrows that could have ended the Kurukshetra war in a moment? What happened to the warrior and his arrows? Why did the battle of Kurukshetra lasted eighteen days? Was there really such a warrior or such …

04 वो तीन तीर जिनसे सिमट सकता था महाभारत का महायुद्ध Read More »

अध्याय 03 दुराचारी लक्ष्मण (The Evil Lakshman)

Listen Subscribe/Follow Home >>> Episode Guide आज चर्चा करेंगे एक खत पर, जो समय चक्र पार कर पहुँचा है हम तक। लिखने वाला स्वयं को 5000 वर्ष पूर्व का बताता है और स्वयं को “दुष्ट लक्ष्मण” कहता है। ये पत्र वास्तविक हो या न हो, पर उसमें लिखी बातें पूर्णतः यथार्थ हैं और हमारे संस्कृति …

अध्याय 03 दुराचारी लक्ष्मण (The Evil Lakshman) Read More »

अध्याय 02 यतो धर्मस्ततो जयः (Yato Dharmastato Jayah) ??? (Vijay Dashmi Special)

Listen Subscribe/Follow Home >>> Episode Guide आज विजयदशमी 2022 के इस विशेष अध्याय में हम चर्चा कारेने रावण और हनुमान के एक काल्पनिक संवाद पर। संवाद काल्पनिक है परंतु साथ ही साथ आज के समाज का एक सत्य भी जिसमे रावण श्री राम पर कटाक्ष कर पूछता है कि “बोल हे राम तू मुझे कैसे …

अध्याय 02 यतो धर्मस्ततो जयः (Yato Dharmastato Jayah) ??? (Vijay Dashmi Special) Read More »

अध्याय 01 – संकल्प

Listen Subscribe/Follow Home >>> Episode Guide ये प्रथम अध्याय हमारा संकल्प है कि हम अपने इस महाअभियान को सत्य व प्रामाणिक संदर्भ का आधार देंगे और उस ज्ञान को जिसे आधारहीन प्रसंगों ने ग्रस लिया है उसका पुनः प्रसारण करेंगे। प्रस्तुत है प्रथम अध्याय एक कविता के रूप में। The first episode is our pledge …

अध्याय 01 – संकल्प Read More »